Immunity Power

     लगभग एक साल पहले दुनिया में एक बीमारी का आगाज़ हुआ था जिसका नाम रखा गया Covid-19 (कोरोना वायरस). इस बीमारी की शुरुआत हमारे पड़ोसी देश चीन से हुई थी. यह एक संक्रमण की बीमारी थी जिसने धीरेधीरे सभी देशों को अपने चपेट में लिया और हमारा देश भारत भी इससे बच नहीं पाया। लाखों लोगों ने अपनी जान गवा दी है इस बीमारी से और करोड़ों लोग इस बीमारी से प्रभावित हुए हैं. और आज भी हमें इस बीमारी से निज़ात नहीं मिली है और रोज़ाना लाखों की संख्या में लोग इससे प्रभावित हो रहे हैं. लेकिन आज मैं यहाँ कोरोना वायरस के बारें में नहीं बल्कि उस विषय पर बात करूगां जो हमें इससे बचा सकता है. लगभग एक साल हो गए इस वायरस को आये हुए लेकिन अभी तक इसका कोई दवा, कोई वैक्सीन नहीं बन पाया है. सैकड़ों वैज्ञानिक इसके वैक्सीन के शोध पर दिन रात लगे हुए हैं लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिली है.

     स्वास्थ्य मंत्रालय, शोध संस्था और डॉक्टर बस एक ही बात बोल रहे हैं की अपनी इम्युनिटी (Immunity) बढ़ाओ. जिसका Immunity मजबूत होगा वही सुरक्षित रख सकता है अपने आपको। तो आज इस ब्लॉग का विषय Immunity Power ही है. हम इसमें जानेंगे की Immunity क्या है, इसका क्या कार्य है, इसको कैसे बढ़ा सकते हैं, अपने रोजाना के खानपान में क्या शामिल करें और अपने दिनचर्या में क्या शामिल कर सकते हैं जो Immunity बढ़ाने में मदद करे.

इम्युनिटी (Immunity) क्या है

    Immunity Power मतलब प्रतिरोधक क्षमता, शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता। ये हमारे शरीर को बैक्टीरिया और वायरस के संक्रमण से बचाती है. इम्युनिटी सिस्टम में अंग, Cells (कोशिकाओं), tissues (ऊतकों) & प्रोटीन्स आदि शामिल होते हैं जो रोगों से लड़ने में मदद करते हैं. इस प्रकार Immunity Power या प्रतिरोधक क्षमता वो है जो हमारे शरीर को रोगों से या संक्रमण से बचाती है और हमको सेहतमंद रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. Immunity Power ही हमारे शरीर की Cells (कोशिकाओं) और फेफड़ों (Lungs) को साफ रखती है और हमको बहुत सी गंभीर बीमारियों से बचाती है न की सिर्फ कोरोना वायरस से. शरीर में Immunity Power का strong (मजबूत) होना बहुत जरुरी है वरना ये कमजोर होने से हमारा शरीर बीमारियों से लड़ नहीं पाता और हमारे शरीर को बीमारियां घेर लेती हैं.

    जिसका Immunity System strong होता है वह मानसिक और शारीरिक रूप से सेहतमंद होता है. अगर आपको तनाव महसूस हो रहा है,किसी भी काम में मन नहीं लग रहा है, लोगों से मिलने या बात करने का मन नहीं कर रहा तो ये भी कमजोर immune system के कारण दिमाग पर होने वाले असर का नतीजा है. लम्बे समय तक घाव ठीक नहीं होता, पेट के रोग हमेशा बने रहते हैं ये सब Low Immunity Power का परिणाम है.

Immunity कितने प्रकार का होता है

आमतौर पर हमारे शरीर में Immunity दो प्रकार की होती है, पहली इनेट और दूसरी अडेप्टिव।

1. इनेट इम्युनिटी किसी वायरस के अटैक के कुछ ही घंटों में ही रिऐक्ट करती है। यह एक तरह के बैरियर का काम करती है, जो किसी भी पैथोजेन को हमारे शरीर में फैलने से रोकती है। वायरस, बैक्टीरिया या अन्य माइक्रोब्स सभी पैथोजेन कहलाते हैं।

2. अडेप्टिव इम्युनिटी को एक्वार्ड इम्युनिटी भी कहते हैं। क्योंकि ये हासिल की जाती है. जैसे जब किसी नए वायरस का संक्रमण होता है तो उसको ठीक होने में काफी समय लगता है, लेकिन दूसरी बार वही संक्रमण होने पर वो जल्दी ठीक हो जाता है क्योंकि हमारा इम्युनिटी उस वायरस को पहचान लेता है एंटीबॉडीज तुरंत बनने लगती है और उस वायरस को मार देता है (शायद इसलिए ही दोबारा कोरोना से प्रभावित होने के चांस बहुत कम होते हैं क्योंकि हमारे शरीर में मौजूद एंटीबॉडीज कोरोना वायरस के प्रभाव को तुरंत मार देते हैं. दोबारा कोरोना से खतरा उनको ही है जिसके शरीर में antibodies नहीं बना है या बना था लेकिन इम्युनिटी दोबारा कमजोर हो गयी है). लेकिन अडेप्टिव इम्युनिटी को काफी वक्त लगता है किसी भी इंफेक्शन से जूझने में। क्योंकि अडेप्टिव इम्युनिटी पैथोजेन के एक्सपोजर से ही ऐक्टिवेट होती है।

Immunity कम होने के कारण और उनसे होने वाले जोखिम

     व्यायाम या योग न करना, नींद पूरी न लेना, पोषणयुक्त भोजन ना करना और तनावग्रस्त जिंदगी जीना ही इम्युनिटी कम होने का प्रमुख कारण है. हमारे आसपास बहुत तरह के हानिकारक तत्व होते हैं जो खाने, पीने यहाँ तक की सांस लेने से भी हमारे शरीर के अंदर घुस जाते हैं. लेकिन हर कोई इनसे बीमार नहीं पड़ता मतलब जिसका Immune System कमजोर होता है वही बीमार पड़ता है.

     मौसम बदलते ही बीमार पड़ना, बारबार सर्दी जुखाम हो जाता है, खाँसी होना, गला ख़राब होना, skin rashes, मसूड़ों में सूजन, diarrhea, बारबार संक्रमित होना, Autoimmune disorder होना, शरीर के आंतरिक अंगो (दिल, गुर्दे, फेफड़े इत्यादि) का ख़राब होना, शरीर और दिमाग का धीरे विकास होना इत्यादि बीमारी ये सब कमजोर Immune System के कारण होते हैं. कमजोर Immunity System होने से कैंसर होने का खतरा भी बना रहता है.

Immunity Power को कैसे बढ़ाएं

1. व्यायाम करनारोजाना व्यायाम और योग अपने दिनचर्या में शामिल करें। व्यायाम और योग से सभी अंग सुचारू रूप से काम करना शुरू कर देते हैं और शरीर का Immune System Strong होता है. और रोजाना व्यायाम करने से शरीर के वजन को नियंत्रित करने में भी सहायता मिलती है, बढ़ा हुआ वजन भी कमजोर Immunity Power का कारक होता है.

2. नींद पूरी लेनारोजाना 6-7 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए। जल्दी सोना चाहिए और जल्दी उठना चाहिए जिससे हमारे शरीर को आराम मिलेगा और Immune System Strong होगा।

3. साफसफाई रखनाअपने आसपास साफसफाई रखें, कुछ खाने पीने से पहले अपने हाथ साफ़ कर लें जिससे हानिकारक बैक्टीरिया या वायरस शरीर के अंदर न जा पाए. एक और अहम् बात इस बात का भी ध्यान रखें की जब तक आपके हाथ साफ़ न हो तब तक अपने मुँह, नाक, आँख को न छुएं। और ये आदत बनाये की बिना वजह आपके हाथ आपके मुँह पर न जाएँ।

4. ग्रीन टी का उपयोगग्रीन टी में antioxidant काफी मात्रा में होते हैं जो Immunity बढ़ाने में मदद करते हैं.

5. Vitamin-D का उपयोग– Vit-D Immunity बढ़ाने में बहुत ही अहम् भूमिका निभाता है. यह ColdFlu और संक्रमण से लड़ने में बहुत सहायक होता है.

6. Vitamin-B– Vitamin B में Zinc और Antioxidant तत्व होता है तो Immunity बढाने में काफी सहायक होता है.

7. ज्यादा दवाइयां नहीं खानी चाहिएज्यादा antibiotics खाने से Immune System पर असर होता है और ये शरीर के Immune System को कमजोर कर देता है.

8. जंक फूड और धूम्रपान से बचेंहमको जंक फ़ूड और धूम्रपान या किसी भी प्रकार से नशे से बचना चाहिए। ये दोनों शरीर के हानिकारक होते हैं.

9. पौष्टिक भोजन करनाहमको ऐसा भोजन करना चाहिए जिनमे vitamins, प्रोटीन, minerals, आयरन प्रचुर मात्रा में हो.

10. Immunity Power बढ़ाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे भी हैं जैसे नींबू पानी पीना, शहद का सेवन, व्यायाम, धूप में कुछ देर बिताना, खट्टे फल, ब्रोकली, अदरक, लहसुन, दूध और हल्दी मिला के पीना और भी बहुत कुछ.

     उम्मीद करता हूँ की ये लेख आपको पसंद आया होगा और थोड़ा बहुत इस महामारी के प्रकोप से बचने में सहायता प्रदान करेगा अगर इसको अमल में लाया जाये तो. लेख में सुधार के लिए आये विचारों का स्वागत है.

By Anurag

One thought on “Immunity Power”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *