आज कल हम अपने सामाजिक जीवन में जानेअनजाने में कुछ ऐसी गलतियां कर देतें हैं की सामने वाले को तो अटपटा लगता ही है साथ में खुद का भी गलत इमेज सामने वाले में मन में बैठ जाता है. नीचे दिए गए कुछ बिंदुओं पर अगर हम गौर करें और अपने अंदर थोड़ा सुधारकर लें तो हमारा सामाजिक व्यव्हार बहुत ही मजबूत हो जायेगा और समाज पर हम एक अपनी अच्छी छाप छोड़ सकते हैं.

सामाजिक शिष्टाचार
  1. किसी को लगातार दो बार से ज्यादा फ़ोन ना करें अगर कोई आपातकाल वाली स्थिति नहीं है तो. अगर वो आपका फ़ोन नहीं उठा रहें है तो जाहिर सी बात है की अभी आपके कॉल से ज्यादा किसी महत्वपूर्ण कार्य में व्यस्त हैं.

  2. अगर आपने किसी से पैसे उधार लिए हैं तो उसके मांगने से पहले या समय से पहले लौटा दें. ये आपके चरित्र को दर्शाता है.

  3. जब आपको कोई लंच या डिनर की ट्रीट दे रहा हो तो कभी भी खुद से महँगी डिश आर्डर करें।

  4. कभी भी किसी से अजीब सवाल करें चाहे कोई कितना भी खास क्यों हो जैसे की आपने अभी तक शादी क्यों नहीं की? आपके बच्चे क्यों नहीं है अभी तक? कब करोगे? घर नहीं ख़रीदा अभी तक? कार कब ले रहे हो? अरे ये आपकी समस्या नहीं है.

  5. आपके पीछे जो रहा है हमेशा उसके लिए दरवाजा खोले इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की वो लड़की है या लड़का, छोटा है या बड़ा. सार्वजनिक रूप से ऐसा करने से आप छोटे नहीं हो जायेंगे और इससे आपके अच्छे संस्कार दिखते हैं.

  6. अगर आप अपने किसी साथी के साथ टैक्सी शेयर करतें हैं तो अगली बार आप पेमेंट करने का कोशिश करें।

  7. विभिन्न प्रकार के विचारों का स्वागत करें, क्योंकि जो आपको “6″ दिख रहा है सामने वाले को “9″ दिख रहा है.

  8. अगर कोई दो व्यक्ति बात कर रहे हो तो उनको बाधित करें, पहले उनको उनकी बात ख़त्म करने दें.

  9. अगर आप किसी को चिढ़ा रहे हैं और वो इसका आनंद नहीं ले रहा है तो तुरंत ये करना बंद करें.

  10. जब भी आपकी कोई मदद करे छोटा हो या बड़ा, धन्यवाद् जरूर कहें.

  11. प्रशंसा हमेशा सार्वजनिक करें और आलोचना निजी रूप से होनी चाहिए। ऐसे करके आप अपना ही कद ऊँचा करेंगे।

  12. किसी के वजन पर कभी टिप्पणी करें, अगर वो इस मामले में आपसे बात करना चाहेगा तो जरूर करेगा।

  13. अगर कोई आपको अपने मोबाइल में फोटो दिखा रहा है तो लेफ्टराइट स्वाइप करें। क्योंकि आप नहीं जानते आगे क्या होगा और ये उसका पूर्णतया निजी मामला है.

  14. अगर आपसे कोई बोले की डाक्टर के यहाँ जाना है या जा रहा है तो कभी भी ये पूछने का कष्ट करें की क्या बीमारी है. आप ये कह सकते हैं की, “आशा करते हैं की आप स्वस्थ हैं. क्योंकि बीमारी व्यक्तिगत हो सकती है और आपका ये सवाल उनको असहज स्थिति में डाल सकता है.

  15. आपके सामने किसी कंपनी का सीईओ हो या ऑफिस का चपरासी, आपका विनम्र व्यव्हार सबके लिए सामान होना चाहिए.

  16. यदि कोई सीधे आपसे ही बात कर रहा है और आप अपना फ़ोन देख रहें हैं तो ये अशिष्टता दर्शाता है.

  17. किसी को भी बिना पूछे अपनी सलाह दें.

  18. किसी से अगर बहुत दिनों के बाद मिलें तो उसके आय और उम्र के बारें में पूछें।

  19. जब तक आपको कोई बुलावा आये अपने काम से काम रखें.

  20. अगर आप किसी से बात कर रहें हैं तो अपने सनग्लास को हटाएँ।

  21. गरीब लोगों के बीच में कभी भी अपने पैसे का बखान करें। हो सकता है आप किसी के यहाँ मेहमान बन के गए हो तो वहां जो सुविधा है उसी में एडजस्ट करें, उसको ये बार बार एहसास कराएं की उसके यहाँ सुविधा कम होने के कारण आप तकलीफ में हैं.

  22. कभी भी खांसते ये छीकतें समय अपने मुँह को ढकें.

  23. अगर आप किसी दोस्त के साथ कही घूमने गएँ हैं तो उससे पूछे बिना सबके साथ वाली फोटो सोशल मीडिया पर फैलाएं।

  24. अपने वर्कप्लेस पर हमेशा मोबाइल के रिंगिंग साउंड को लो मोड पर रखें। और कभी भी मीटिंग में बैठने के पहले साइलेंट कर लें और अगर बहुत ही जरुरी फ़ोन कॉल है तो मीटिंग से बाहर जाकर बात करें।

  25. अगर आप ट्रैन, बस में यात्रा कर रहें हैं तो अपने बच्चों को खेलने के लिए छोड़ दें. दूसरो को उससे आपत्ति हो सकती है, क्योंकि ये आपका आँगन नहीं है.

  26. अगर आपने कोई अपना बिज़नेस शुरू किया है या जैसे की नेटवर्क मार्केटिंग, बीमा तो आप सिर्फ अपने रिश्तेदारों/दोस्तों को सूचित करें उनको बाध्य करें की हमसे बीमा या प्रोडक्ट ले ही लो. “आप तो अपने हो या अपने लोगों से ही शुरुआत करते हैं” जैसे शब्दों से उनको असहज करें उनको लेना रहेगा तो वो जरूर आपसे संपर्क करेंगे। यदि आप ऐसा करेंगे तो वो धीरे धीरे आपसे दूरी बनाने लगेंगे।

आशा करता हूँ की हमेशा की तरह “सामाजिक शिष्टाचार” के ऊपर ये ब्लॉग आपको जरूर पसंद आया होगा।
सुझाव का हमेशा स्वागत हैं…
धन्यवाद्

Also Read: How to be Polite

By Anurag